chessbase india logo

महिला विश्व चैंपियनशिप R1 : वेंजून - गोरयाचकिना के बीच 97 चाल चला मुक़ाबला !

by Niklesh Jain - 05/01/2020
चीन के शंघाई में आज से महिला विश्व शतरंज चैंपियनशिप का शुभारंभ हो गया और इस माह हमें पता चल जाएगा की क्या चीन की जू वेंजून एक बार फिर विश्व चैम्पियन का ताज पहनेंगी या फिर युवा आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना विश्व महिला शतरंज की सिरमौर बनेंगी । फिलहाल आज पहला राउंड खेला गया और यह हुआ 97 चालों का मैराथन मुक़ाबला जिसमें गोरयाचकिना नें पूरे समय वेंजून पर दबाव बनाए रखा पर अंततः मुक़ाबला अनिर्णीत समाप्त हुआ । प्रतियोगिता में पहले छह राउंड चीन में तो अंतिम छह राउंड रूस में खेले जाएँगे । खैर भारतीय शतरंज के नजरिए से यह मुक़ाबला इसीलिए भी अहम है की जिस तरह से कोनेरु हम्पी नें पिछले छह माह मे शतरंज जगत मे वापसी की है एक बार उनकी विश्व चैंपियनशिप खेलने की उम्मीद बढ़ गयी है और ऐसे मे इसका विजेता आने वाले समय मे हम्पी का प्रतिद्वंदी हो सकता है । पढे यह लेख 

 

फीडे विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ शतरंज के मुकाबलों के बाद अब बारी है महिला क्लासिकल विश्व शतरंज चैंपियनशिप की जो की 3 जनवरी से 26 जनवरी के दौरान मौजूदा विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजून और चैलेंजर रूस की अलकसान्द्रा गोर्याचिकिना के बीच खेली जा रही है । पहली बार विश्व शतरंज चैंपियनशिप के पहले छह मुक़ाबले शंघाई चीन तो उसके बाद के छह मुक़ाबले रूस के व्लादीवोस्टोक में खेले जाएंगे । यहाँ भारत के हिसाब से रोचक बात यह है की अगर आने वाले समय में जिस तरह भारत की कोनेरु हम्पी खेल रही है और फीडे कैंडीडेट जीत पाती है तो वह इस प्रतियोगिता में जीत कर विश्व चैम्पियन बनने वाली खिलाड़ी से क्लासिकल विश्व चैम्पियनशिप के लिए चयनित हो सकती है ।

प्रतियोगिता में कुल 12 क्लासिकल मुक़ाबले होंगे और पहले 6.5 अंक बनाने वाले खिलाड़ी को विजेता घोषित कर दिया जाएगा और अगर 12 राउंड के बाद परिणाम नहीं निकला तो फिर टाईब्रेक मुक़ाबले रैपिड और ब्लिट्ज़ के होंगे । क्लासिकल मैच में परिणाम निकलने पर प्रतियोगिता की 5 लाख यूरो मतलब करीब 4 करोड़ रुपए दोनों खिलाड़ियों में 60% - 40 % के हिसाब से बाँट दिये जाएँगे और अगर परिणाम टाईब्रेक से निकला तो अनुपात 55% - 45 % का होगा ।

ओपनिंग कार्यक्रम के दौरान पहले राउंड के लिए रंगो का चुनाव किया गया और गोरयाचकिना के लिए पहले रंग आया सफ़ेद 

फीडे विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप में पहले ही राउंड में रोमांच अपने चरम पर रहा और उतार चढ़ाव से भरे इस मुक़ाबले में रूस की युवा चैलेंजर आलेक्सांद्रा गोरयाचकिना जीत के काफी करीब पहुँच गयी थी पर 97 चालों तक चले इस मैराथन मुक़ाबले में आखिरकार परिणाम अनिर्णीत रहा हालांकि पहले ही मैच में यह बात साफ हो गयी की मौजूदा 28 वर्षीय विश्व चैम्पियन चीन की जू वेंजुन के लिएइस बार खिताब कायम रखना आसान नहीं होगा और 21 वर्षीय युवा गोरयाचकिना उन्हे कठिन चुनौती पेश करेंगी । आज हुए मुक़ाबले मे सफ़ेद मोहरो से खेल रही गोरयाचकिना नें क्लोस केटलन ओपनिंग से खेल की शुरुआत की और मात्र 22 चालों मे ही खेल हाथी के साथ ऊंट घोड़े के एंड गेम में पहुँच गया जहां लगा की मैच ड्रॉ हो जाएगा पर 40 चालो के आते आते वेंजुन  अपनी राजा की ओर की खराब प्यादो की संरचना की वजह से मुश्किल में आ गयी पर गोरयाचकिना नें कई मौके गवां दिये और हाथी के खेल से बाहर जाने के बाद 70वी चाल में वह अपने घोड़े से ऊंट को बाहर कर मैच जीतनें की कोशिश कर सकती थी पर वह खैर  मैच अंततः ड्रॉ रहा । दोनों के बीच अभी 11 राउंड और खेले जाने है ।

देखे विडियो विश्लेषण - हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल के सौजन्य से